We use cookies to provide some features and experiences in QOSHE

More information  .  Close
Aa Aa Aa
- A +

वंशवाद लोकतंत्र के लिए घातक

7 0 0
14.09.2017

नीरजा चौधरी

वरिष्ठ पत्रकार

राहुल गांधी का यह कहना कि भारत में सभी पार्टियों में परिवारवाद है, सिर्फ कांग्रेस में ही नहीं है. यह बयान उनकी अगंभीरता को ही दर्शाता है. क्योंकि, भारतीय राजनीति में जिस तरह से परिवारवाद जड़ें जमाये हुए है, उसके मद्देनजर ऐसी बात कहने का अर्थ है कि यह आपके लिए कोई गंभीर बात नहीं है. राहुल का ऐसा कहना कांग्रेस पार्टी को नुकसान पहुंचा सकता है. राहुल की अगंभीरता यह भी है कि वे अक्सर छुट्टियां मनाने विदेश चले जाते हैं. देश में कई गंभीर मुद्दों पर बहस चल रही होती है, उस वक्त तो वे कुछ नहीं कहते, लेकिन ऐसे वक्त में गलतबयानी कर बैठते हैं, जब उसकी कोई जरूरत नहीं होती.

चूंकि कांग्रेस एक बड़ी और पुरानी पार्टी है और राहुल उसके उपाध्यक्ष हैं, इसलिए भी उनसे लोग यह उम्मीद लगाये रहते हैं कि वे कोई महत्वपूर्ण बात कहेंगे. लेकिन, राहुल इस स्थिति को नहीं समझ पाते और इसलिए उनका बयान मीडिया में चर्चा का विषय बन जाता है.

किसी भी लोकतंत्र में यह बहुत ही विचित्र ही नहीं, बल्कि गलत बात है कि कुछ ही परिवार मिलकर देश की राजनीति की दशा-दिशा तय करें या फिर वे ही सत्ता में बैठकर देश की दशा-दिशा को प्रभावित करें. यह इसलिए भी गलत बात है, क्योंकि परिवारवाद में योग्यता मायने नहीं रखती, परिवार का सदस्य होना मायने रखता है. इसका नुकसान यह होता है कि हमारी जनता को एक अयोग्य नेतृत्व मिलता है, जो अक्सर जनतांत्रिक नीतियों को बनाने........

© Prabhat Khabar